पडद्याचा खेळ!

पर्दों की बुनाई छूटती जा रहीं हैं,उस कमरें में हूई मोहब्बत बूढ़ी हो रही हैं। वो दोनों अभी भी साथ…

Continue Reading →