‘खुद’ का सूरज जरूर बनेगी ।

उसके उड़ान का हौसला बन तू, उसके फैसले की वजह बन तू। उसे मुमबत्ती की लौ ना समझ, पत्थर चीरने…

Continue Reading →