Hindi City

पडद्याचा खेळ!

  • by

पर्दों की बुनाई छूटती जा रहीं हैं,उस कमरें में हूई मोहब्बत बूढ़ी हो रही हैं। वो दोनों अभी भी साथ रहते होंगे ना? उस मुकम्मल… Read More »पडद्याचा खेळ!

यादें सफर की।

  • by

एक बस (bus) जिसे कदर हैं हर सिसक की।जो हकदार हैं कई सच्ची कहानियों की।कितने लाजमी सपनों की, कितने प्यार भरे किस्सों की।एक झगड़ा उसके… Read More »यादें सफर की।

हे सत्य तुम्हाला पचेल का?

बाहेरून या समाजाचा खेळ पहायचा असेल तर ‘ही’ सिरीज भारतातील प्रत्येकाला रिलेट करेल. इतकं क्रिस्टल सत्य मांडण्याची ताकद चित्रपटांमध्ये आली नाही, कारण तिथे सेन्सॉर बोर्डाच्या… Read More »हे सत्य तुम्हाला पचेल का?

किताब मिलने के बाद लिखना जरूर…।

आज के दौर का मुसन्निफ़ (राइटर) पूछने की हिम्मत करता हैं, कहता हैं… कल किसी अजनबी के हाथों पर मेरी किताब होगी। उसे मेरे कद… Read More »किताब मिलने के बाद लिखना जरूर…।

मोहब्बत की सुनवाई।

तुमने कहाँ मैने सुना, तुमने फिर कहाँ मैने फिर सुना।ऐसे ही तुम कहते गये, मैं सुनती गयी।मैं सुनती गयी, तुम कहते गये…। बड़े फ़ुरसत से… Read More »मोहब्बत की सुनवाई।

तू कलाकार बड़ा श्रेष्ठ हैं।

  • by

तू विघ्न बनाता है, तुही विघ्न का विनाश करता है। इन इंसानों के बीच शान से खड़े रहकर, जिंदगी को संभालने की हिम्मत देता हैं।… Read More »तू कलाकार बड़ा श्रेष्ठ हैं।